Jharkhand :-“भ्रष्टाचार और घोटाले का सामना कर रही हेमंत सरकार पर भाजपा का जोरदार हमला”

Jharkhand :-“भ्रष्टाचार और घोटाले का सामना कर रही हेमंत सरकार पर भाजपा का जोरदार हमला”

झारखंड राज्य में हेमंत सोरेन की सरकार पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने जोरदार हमला बोला है, कहते हुए कि सरकार ने अपने चार साल के कार्यकाल में किए गए वादों को पूरा नहीं किया है। इस आर्टिकल में हम इस विषय पर विस्तार से चर्चा करेंगे, जानेंगे कि कैसे भ्रष्टाचार और घोटाले ने हेमंत सरकार को कड़ी मुश्किल में डाला है और भाजपा कैसे इस पर हमला बोल रही है।

वादे और असफलता:

हेमंत सोरेन ने अपने चुनावी घोषणाओं में बहुत कुछ वादे किए थे, जैसे कि पांच लाख नौकरियां, सात हजार रुपये प्रति माह बेरोजगारी भत्ता, तीन लाख रुपये का आवास, और 1932 के खतियान के आधार पर नियोजन नीति बनाने जैसे। लेकिन भाजपा के नेता अमर बावरी ने इसे फुस्स कहा है और कहा है कि इन वादों को पूरा नहीं किया गया है। यह चुनावी वादे जनता के बीच आक्रोश और नाराजगी का कारण बन गए हैं।

यह भी पढ़े:-Jharkhand High Court:-झारखंड HC का फैसला विवाह से आरक्षण लाभ नहीं मिलेगा

यह भी पढ़े:-Teacher Jobs:-अन्य राज्य वाले भी झारखण्ड में बन सकेगे टीचर,झारखंड उच्च न्यायालय का निर्देश

भ्रष्टाचार और घोटाला:

भाजपा ने हेमंत सरकार को भ्रष्टाचार और घोटाले के आरोपों में घेरा है। इसके अलावा, केंद्रीय एजेंसियां भ्रष्टाचार की जांच कर रही हैं और इसमें हेमंत सोरेन को भी शामिल किया जा रहा है। भ्रष्टाचार और घोटाला के मामले में सरकार की जांच की आंच बढ़ चुकी है और भाजपा इसे चुनावी मुद्दा बना रही है।

पूरे प्रदेश में हेमंत सरकार के खिलाफ जनता का आक्रोश देखा जा रहा है। भाजपा उम्मीदवारों ने इस आक्रोश को अपने लाभ के लिए उच्चाधिकारियों तक पहुंचाने का प्रयास कर रही है। आक्रोश का सीधा परिणाम यह है कि 2024 के लोकसभा और विधानसभा चुनावों में भाजपा ने जनता के आक्रोश का नेतृत्व करने का इरादा किया है और हेमंत सरकार को हराने का प्रयास करेगी।

भाजपा का हमला:

भाजपा ने झारखंड में हेमंत सरकार के खिलाफ जोरदार हमला बोला है और कहा है कि राज्य में हो रहे सभी विकास के बुनियादी काम भाजपा की देन है। भाजपा नेता अमर बावरी ने बताया कि पहले मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी के कार्यकाल में विकास के लिए कई कदम उठाए गए थे, जो आज तक का फल भाजपा को मिल रहा है।

भाजपा ने सम्मान समारोह का आयोजन किया, जिसमें कई भाजपा नेता शामिल हुए। इसमें जिलाध्यक्ष विजय नंद पाठक, रामेश्वर राम, प्रभात कुमार भुइयां, ममता भुइयां, लवली गुप्ता, मीना गुप्ता, रेणु देवी, जितेंद्र तिवारी, अजीत सिंह, और अन्य कई नेताओं को सम्मानित किया गया।

समापन:

झारखंड में हेमंत सोरेन की सरकार पर भाजपा का जोरदार हमला और जनता के बीच आक्रोश की बढ़ती नाराजगी ने राजनीतिक स्क्रिप्ट को बदल दिया है। भ्रष्टाचार और घोटाले के मामले में सरकार की जांच की आंच बढ़ गई है और यह भाजपा के लिए एक महत्वपूर्ण चुनौती बनी है। 2024 के चुनावों में भाजपा ने जनता के आक्रोश को उच्चाधिकारियों तक पहुंचाने का इरादा किया है और इसका पूरा करने के लिए उन्होंने कई कदम उठाए हैं।