Earthquake In Jharkhand:-हल्के भूकंप से हिला झारखंड:3.7 तीव्रता के झटके महसूस हुए

Earthquake In Jharkhand:-हल्के भूकंप से हिला झारखंड:3.7 तीव्रता के झटके महसूस हुए

परिचय:एक आश्चर्यजनक घटना में, झारखंड में मंगलवार को 3.7 तीव्रता के हल्के झटके महसूस किए गए। रांची मौसम विज्ञान केंद्र ने बताया कि भूकंप सुबह 3:22 बजे आया, जिसका केंद्र दुमका जिले से लगभग 24 किलोमीटर उत्तर-उत्तरपूर्व में पांच किलोमीटर की गहराई पर था। सौभाग्य से, ये मामूली झटके थे और अधिकारियों का मानना है कि जान-माल को कोई खास नुकसान नहीं हुआ है।

दुमका में असर:

मंगलवार को सुबह 3:22 बजे के आसपास दुमका के निवासियों ने भी भूकंप के झटके महसूस किए जाने की सूचना दी। 3.7 तीव्रता वाले भूकंप से स्थानीय लोगों में थोड़ी हलचल मच गई. शुक्र है कि किसी के हताहत होने या नुकसान की कोई खबर सामने नहीं आई है। अचानक आए झटकों ने लोगों को अपने घरों से बाहर निकलने के लिए मजबूर कर दिया, जिससे अनुभव में दहशत का माहौल जुड़ गया।

क्षेत्र में हाल ही में आए भूकंप:

यह भूकंपीय गतिविधि दिल्ली और एनसीआर क्षेत्र में हाल ही में आए भूकंपों के बाद हुई है, जहां तीव्र झटकों के कारण लोगों को इमारतें खाली करनी पड़ीं। भूकंप के झटके सिर्फ दिल्ली में ही नहीं बल्कि नोएडा, गाजियाबाद और हरियाणा के अन्य शहरों में भी महसूस किए गए। हालांकि भूकंप शक्तिशाली थे, लेकिन कोई खास नुकसान नहीं हुआ।

भूकंप को समझना:

पृथ्वी की ऊपरी सतह सात टेक्टोनिक प्लेटों से बनी है। जब ये प्लेटें एक-दूसरे से टकराती हैं या फिसलती हैं तो भूकंप आ सकता है। झारखंड के मामले में, भूकंप पृथ्वी की सतह के नीचे इन प्लेटों के हिलने के कारण आया।

ALSO READ:Hemant Soren की सरकार ने ₹16,000 करोड़ के नए आवास योजना को मंजूरी दी

भूकंप के दौरान सुरक्षा उपाय:

घर के अंदर कवर लें: यदि घर के अंदर हैं, तो मजबूत फर्नीचर के नीचे बैठें या एक कोने में झुकें, अपने चेहरे और सिर को अपने हाथों से ढकें।
संरचनाओं से दूर रहें: यदि बाहर हैं, तो संभावित खतरों से बचने के लिए इमारतों, पेड़ों, खंभों और तारों से दूर रहें।
वाहन की आवाजाही रोकें: यदि वाहन में हैं, तो किसी सुरक्षित स्थान पर रुकें और झटके रुकने तक अंदर ही रहें।

भीड़-भाड़ वाली जगहों पर शांत रहें: यदि आप भीड़ में फंस गए हैं, तो बिना घबराहट पैदा किए अपनी उपस्थिति का संकेत देने के लिए पाइप या दीवारों पर हल्के से टैप करें।
जागरूकता पैदा करें: घर पर एक आपातकालीन किट रखें और अपने परिवार को भूकंप सुरक्षा उपायों के बारे में शिक्षित करें।

निष्कर्ष:

हालांकि झारखंड में हाल ही में आए झटके मामूली थे, लेकिन यह ऐसी प्राकृतिक घटनाओं के लिए तैयार रहने की याद दिलाता है। सुरक्षा दिशानिर्देशों का पालन करना और सूचित रहना भूकंपीय गतिविधियों के दौरान महत्वपूर्ण अंतर ला सकता है।

Leave a Reply