Godda News :-रहस्यमय बीमारी 7 बच्चों की मौत और 300 से ज्यादा बीमार

Godda News :-रहस्यमय बीमारी 7 बच्चों की मौत और 300 से ज्यादा बीमार

झारखंड के गोड्डा जिले में फैली एक अज्ञात बीमारी ने भ्रष्टाचार की बीजें बो दी हैं, जिसके परिणामस्वरूप एक हफ्ते में सात बच्चों की मौत हो गई है। इस लेख में, हम इस रहस्यमय बीमारी की पहचान, लक्षण, और उसके प्रभावों का विश्लेषण करेंगे।

 

अनजान बीमारी के लक्षण

  1. शरीर में दर्द
    • बीमारी की पहचान में पहला लक्षण, बच्चों में अच्छूत दर्द है।
  2. बुखार का आना
    • दर्द के बाद, बच्चों को फिर बुखार आने लगता है।

प्रभावित क्षेत्रों की स्थिति

  1. गोड्डा जिले के प्रभावित गांवों की स्थिति
    • सुंदर पहाड़ी प्रखंड के कई गांवों में बच्चों में इस बीमारी से गंभीर चिंता है।
  2. मौत के पीछे का राज
    • सात बच्चों की मौत ने गांवों में दहशत मचा दी है, और इस बीमारी के राज को सुलझाने की कोशिशें हो रही हैं।

ALSO READ:-Jharkhand News:-बाबा बागेश्वर को नहीं मिली इजाजत,हेमंत सरकार पर लगाया हिंदू विरोधी रुख का आरोप

सड़क से बिहार तक का सफर

  1. बीमारी का प्रसार
    • बीमारी ने झारखंड से बिहार तक अपना प्रसार किया है, जिससे विशेषज्ञों को भी चुनौती है।
  2. बिहार में WHO की टीम का आगमन
    • विश्व हेल्थ ऑर्गनाइजेशन की टीम ने बीमारी की जांच के लिए बिहार में कदम रखा है।मरीजों के ब्लड सैम्पल जांच के लिए पटना भी भेजे गए हैं।

बीमारी का नाम – लंगड़ा बुखार

  1. लंगड़ा बुखार का खतरा
    • बीमारी को स्थायी रूप से ‘लंगड़ा बुखार’ कहा जा रहा है, जिससे ठीक होने के बाद भी लोग बड़े दर्द से जूझ रहे हैं।अब तक 300 से ज्यादा लोग इस बीमारी के शिकार हो चुके हैं। पटवा टोली के लोगों ने इस बीमारी का नाम लंगड़ा बुखार रखा है। वजह ये है कि ठीक होने के बाद इस बीमारी से पीड़ित लोग जोड़ों में इतने भयानक दर्द का सामना करते हैं कि ठीक से चल भी नहीं पाते।

इलाज और जांच का प्रयास

  1. चिकित्सा टीम का सतर्कता से काम
    • जिला प्रशासन के निर्देश पर चिकित्सकों की टीम ने प्रभावित गांवों में त्वरित रूप से कार्रवाई की है।
  2. जांच की जा रही है
    • बच्चों की मौत की वजह का पता करने के लिए जांच की जा रही है।मरीजों के ब्लड सैम्पल जांच के लिए पटना भी भेजे गए हैं।

आवश्यक सावधानियाँ

  1. बच्चों के साथ सतर्कता
    • इस समय में बच्चों को बीमारियों से बचाव के लिए और भी अधिक सतर्क रहना चाहिए।कुछ भी संदेह हो तो तुरंत अपने नजदीकी हेल्थ सेण्टर में जाकर अपने बच्चो को डॉक्टर को दिखाए ।

विशेषज्ञों की राय

  1. संजय किस्कू की बात
    • विश्व आदिवासी अखिल एभोन संगठन के संजय किस्कू के अनुसार, बहुत से गांवों के बच्चे इस बीमारी से पीड़ित हैं।गोड्डा के विधायक अमित मंडल ने इस स्थिति को गंभीरता से लेकर, इसे राजनीतिक रूप से उठाया है।

WHO की सलाह

12.बच्चों का निगरानीत करें

    • बिहार में भी बढ़ती बीमारी के मामले में विश्व हेल्थ ऑर्गनाइजेशन की टीम पहुंची है। इस बीमारी के लक्षणों में दर्द और बुखार हैं और अब तक 300 से ज्यादा लोग इससे प्रभावित हो चुके हैं। इसे “लंगड़ा बुखार” कहा जा रहा है, क्योंकि इससे पीड़ित लोग ठीक होने के बाद भी जोड़ों में भयानक दर्द का सामना करते हैं।

बीमारी से जूझ रहे लोग

  1. बीमारी से जूझ रहे लोगों की कहानी
    • बीमारी से गुजर रहे लोगों की दर्दनाक कहानियों का सामना करें।यह बीमारी एक चुनौतीपूर्ण स्थिति है, जिसे जल्दी से सुलझाने के लिए सरकारों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों को मिलकर काम करना होगा।

ALSO READ:-Isreal-Hamas War:इसराइल और हमास के बीच समझौते की खबर

1 thought on “Godda News :-रहस्यमय बीमारी 7 बच्चों की मौत और 300 से ज्यादा बीमार”

Leave a Reply