Jharkhand News:-एक हताश माँ की विनाशकारी कदम 3 छोटे बच्चों की मौत

Jharkhand News:-एक हताश माँ की विनाशकारी कदम 3 छोटे बच्चों की मौत

झारखंड के खरसावां में एक दिल दहला देने वाली घटना में एक महिला ने अपने तीन छोटे बच्चों के साथ कुएं में कूदकर बड़ा कदम उठाया। पारिवारिक विवादों के बीच यह त्रासदी सामने आई, जिसके परिणामस्वरूप तीनों बच्चों की असामयिक मृत्यु हो गई।

प्रकट होती त्रासदी

घटना सराय-खरसावां जिले की है, जहां पारिवारिक कलह के कारण पूजा महतो नाम की महिला को अपने तीन बच्चों के साथ कुएं में छलांग लगानी पड़ी. समुदाय ने तुरंत हस्तक्षेप किया और परेशान मां को बचाया लेकिन, दुखद बात यह है कि बच्चों को बचाया नहीं जा सका। पुलिस ने सोमवार को घटना का खुलासा करते हुए गमजदा मां की पहचान पूजा महतो के रूप में की।

त्रासदी की पृष्ठभूमि

लोहरदगा जिले की रहने वाली पूजा महतो का अपने पति के साथ शनिवार को उस समय विवाद हो गया जब वह रांची के लिए निकले. मौके का फायदा उठाते हुए पूजा ने निराशा के क्षण में अपने बच्चों – कोमल (9), अनन्या (5) और आर्यन महतो के साथ कुएं में छलांग लगा दी। ग्रामीणों ने किसी तरह पूजा को कुएं से बाहर निकाला और उसे खरसावां सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया।

यह भी पढ़े:-Mandir in UAE:-संयुक्त अरब अमीरात में बीएपीएस हिंदू मंदिर

पुलिस की प्रतिक्रिया

सरायकेला के उपमंडलीय पुलिस अधिकारी दिलीप खलको ने बताया कि जब यह दुखद घटना घटी तब पूजा के पति बाहर थे। पुलिस अधिकारी ने बताया कि जैसे ही सूचना उन तक पहुंची, पुलिस की एक टीम घटनास्थल पर पहुंची, जहां तीनों बच्चों के मृत शव मिले. बाद में पीड़ितों की पहचान कोमल कुमारी, अनन्या महतो और आर्यन महतो के रूप में की गई।

जांच एवं कानूनी कार्रवाई

शवों को निकालने के बाद उन्हें पोस्टमॉर्टम के लिए नजदीकी अस्पताल भेज दिया गया। बताया गया है कि पूजा ने अपने पति के खिलाफ दुर्व्यवहार का आरोप लगाते हुए शिकायत दर्ज कराई थी और घटना से पहले पुलिस के आपातकालीन नंबर 100 पर डायल किया था। दंपत्ति अपने बच्चों के साथ रांची के पास एक गांव कुम्हारसाई में किराए के मकान में रहते थे।

सामुदायिक सदमा और दुख

इस चौंकाने वाली घटना ने स्थानीय समुदाय को अविश्वास और दुःख में छोड़ दिया है। निर्दोष जिंदगियों की दुखद हानि ने पारिवारिक कलह और मानसिक स्वास्थ्य चुनौतियों का सामना करने वाले व्यक्तियों के लिए सहायता प्रणालियों की आवश्यकता पर चर्चा को प्रेरित किया है।

पोस्टमॉर्टम और चिकित्सा ध्यान

बच्चों के शवों का पोस्टमॉर्टम कराया गया है और पूजा महतो का नजदीकी अस्पताल में इलाज चल रहा है। अधिकारी इस दुखद घटना की वजह बनी परिस्थितियों की गहन जांच कर रहे हैं।

यह घटना मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दों को संबोधित करने और घरेलू विवादों का सामना करने वाले लोगों को सहायता प्रदान करने के महत्व पर प्रकाश डालती है। यह ऐसी दिल दहला देने वाली घटनाओं को रोकने के लिए समुदाय-आधारित हस्तक्षेप कार्यक्रमों और परामर्श सेवाओं की आवश्यकता को रेखांकित करता है।

निष्कर्ष

झारखंड त्रासदी पारिवारिक संघर्षों के बीच मानसिक स्वास्थ्य की नाजुकता की याद दिलाती है। यह भावनात्मक संकट से जूझ रहे व्यक्तियों के लिए जागरूकता, समर्थन और सुलभ संसाधनों में वृद्धि की मांग करता है। जैसे-जैसे समुदाय युवा जीवन के नुकसान पर शोक मनाने के लिए एक साथ आते हैं, ऐसे माहौल को बढ़ावा देना महत्वपूर्ण हो जाता है जो खुले संवाद को प्रोत्साहित करता है और निवारक उपायों की तलाश करता है।

1 thought on “Jharkhand News:-एक हताश माँ की विनाशकारी कदम 3 छोटे बच्चों की मौत”

Leave a Reply