Jharkhand Crime:ड्रग्स क्वीन डॉली परवीन को मारी गोली, हालत नाजुक

Jharkhand Crime:ड्रग्स क्वीन डॉली परवीन को मारी गोली, हालत नाजुक

रविवार की शाम को झारखंड में हुई एक गंभीर घटना ने समाचार चर्चा में धूम मचा दी है। ड्रग्स पेडलर डॉली परवीन, जिन्हें ‘ड्रग्स क्वीन’ के नाम से भी जाना जाता है, को उसके रिश्तेदारों ने ही बाजार में गोली मार दी। इस घटना के पीछे का कारण उसके जेल से हाल ही में बाहर आने और ब्राउन शुगर के खरीद-बिक्री के आरोपों में फंसने में है।

घटना का विवरण

रविवार शाम करीब 5 बजे, डॉली परवीन जेल से बाहर आई थीं और उसके भाई मुजाहिद हुसैन (कांडी) और भतीजे राजू ने उसे घर बुलाकर गोली मार दी, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गईं। डॉली को जख्मी हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी हालत नाजुक है।

डोली परवीन एक ड्रग्स पेडलर का काम करती थी इसके इस काम में इसके सहयोगी और अन्य साथी इसके परिवार से ही आते है सूत्रों के अनुसार ये घटना इसके परिवार के भीतरी कलेश और पैसो की लेनदेन की बताई जा रही है प्रथम दृष्टया से तो यही परतीत हो रहा है आगे पुलिस जांच कर रही है जैसे ही कुछ खबर मिलेंगे हम आपसे इसकी चर्चा करेंगे ।

ALSO READ:Jharkhand Politics:’दिसंबर तक गिर जाएगी हेमंत सरकार’,सरयू राय का दावा

डॉली परवीन: ड्रग्स क्वीन का अंजाम

डॉली परवीन को लोग ड्रग्स क्वीन के नाम से जानते हैं, और वह कुछ दिन पहले ही जेल से बाहर आई थीं। इसी दौरान उसके भाई और भतीजे ने उसे गोली मारकर गंभीर जख्मी कर दिया है। घायल डॉली को बेहतर इलाज के लिए जमशेदपुर के टीएमएच अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

परिवार का दावा

घटना के संबंध में डॉली के भाई रमजान हुसैन (चौधरी) ने बताया कि रविवार शाम 5 बजे उनकी बहन घर पर थीं, तभी भाई और भतीजा आ धमके और जबरन पैसे की डिमांड करने लगे। पैसा नहीं देने पर इन्होंने गोली चला दी, जिससे डॉली जख्मी हो गईं। पुलिस ने घटनास्थल से गोली का खोखा बरामद किया है और जांच जारी है।

घटना का मोटी तौर पर विवेचन

डॉली परवीन की इस घटना ने समाज में गहरा प्रभाव डाला है। इससे सामाजिक सड़क पर उभरते दुष्कर्म और अपराधों की चर्चा में वृद्धि हो रही है। ड्रग्स व्यापार की दुनिया में डॉली का नाम सुना जाता था, और इसका सीधा संबंध उसके घर के अंदर होने पर इस घटना ने इस व्यापार की डारक साइड को दिखाने में मदद की है।

अंत में

इस अधिकारीकृत घटना ने व्यक्तिगत स्तर पर नहीं ही, समाज में एक बड़े स्तर पर असुरक्षा की चिन्हित स्थिति को दर्शाया है। हम उम्मीद करते हैं कि पुलिस जल्दी से इस मामले की गहन जांच करेगी और जिम्मेदार अभियुक्तों को सजा दिलाएगी,अब दुनिया इतनी सेंसेटिव हो चुकी है की मानव अपना दिमागी संतुलन खो चूका है मानव अब अपने मसले मसाइल बात करके हल नहीं करना चाहता है अब उसे हल करने के लिए हिंसा का सहारा लेना एक मात्र रास्ता रह गया है ऐसा लगता है मानवीय जीवन कितना सस्ती से हो गई है इसका कोई मोल नहीं रह गया है ऐसा लग रहा है।

Leave a Reply