Jharkhand News: महिला को ‘तालिबानी’ सजा, उठक-बैठक से लेकर FIR तक, पूरा मामला खुला

Jharkhand News: महिला को ‘तालिबानी’ सजा, उठक-बैठक से लेकर FIR तक, पूरा मामला खुला

झारखंड में एक अजब मामला सामने आया है, जिसमें एक महिला को पंचायती सभा में ‘तालिबानी’ सजा दी गई। इस मामले में पुलिस पर भी गंभीर आरोप लगे हैं।गढ़वा जिले में घटित यह घटना मेहरारू बनी है, जहां एक महिला को पंचायती सभा में 20 जूते मारे गए और उसे जूते पर थूक कर चाटने को मजबूर किया गया।

उठक-बैठक का सीधा सम्बंध पुलिस के साथ

महिला को कान पकड़कर सौ दफा उठक-बैठक कराई गई, और उस पर 56 हजार रुपए का आर्थिक दंड लगाया गया। इसके बाद उसके सामाजिक बहिष्कार का फैसला भी सुनाया गया।घटना 15 अगस्त की है, लेकिन फिर भी FIR दर्ज कराई गई है। महिला ने इस पर पुलिस में शिकायत करते हुए बताया कि उसे चरित्रहीन और डायन करार देकर जुल्म किया गया।

ALSO READ:-“राष्ट्रीय हेराल्ड प्रकरण: ₹751 करोड़ की संपत्ति ज़ब्त, कांग्रेस-चलित संपादित अखबार पर नजर”

15 अगस्त का मामला

महिला ने पुलिस में शिकायत में दर्ज कराते हुए कहा कि बीते 15 अगस्त की रात लगभग 12 बजे पंचायत बिठाई गई। गांव के जब्बार अंसारी, मुजाहिद अंसारी, इलियास अंसारी, साकिर अंसारी, मोकिर अंसारी, असगर अली, इमामुद्दीन अंसारी और इरशाद अंसारी उसके घर पहुंचे और उसे एवं उसके पति को पंचायत में ले गए।

महिला का आरोप: 

महिला का कहना है कि घटना के अगले ही दिन उसने मेराल थाने में आवेदन दिया, लेकिन FIR दर्ज नहीं की गई। अब उसने ऑनलाइन कंप्लेन दर्ज कराई है।जानिए कैसे सार्वजनिक तौर पर महिला पर गांव के एक युवक से नाजायज संबंध के आरोप लगे हैं, जिस पर डायन होने का भी आरोप मढ़ा गया।पुलिस अब ऑनलाइन कंप्लेन के आधार पर महिला की शिकायत की जांच कर रही है, और इस मामले में कोई कार्रवाई अभी तक नहीं की गई है।

कन्क्लूजन: न्याय मिलना चाहिए

मामले की जांच और फैसले का समय बताएगा कि यह पूरी घटना किस प्रकार से हुई और क्या आगे होगा।इस अजब मामले की समाप्ति में यह सुनिश्चित होना चाहिए कि न्याय हो, और यदि महिला पर गलत आरोप लगाए गए हैं तो उसे भी सुरक्षा मिलनी चाहिए।इस अनूठे मामले की ताजगी के साथ, यह सुनिश्चित होना चाहिए कि न्याय की प्रक्रिया धीरे-धीरे आगे बढ़ती है और सभी प्रतिभागियों को इंसाफ मिलता है।

FAQ: प्रश्न और उत्तर

  1. महिला ने क्यों इतनी देर बाद ही FIR दर्ज कराई?
    • उत्तर: महिला ने पहले भी शिकायत दी थी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई थी, इसलिए उसने ऑनलाइन कंप्लेन करने का फैसला किया।
  2. क्या पुलिस ने अब तक कोई कार्रवाई नहीं की?
    • उत्तर: अब तक कोई आधिकारिक कार्रवाई नहीं की गई है, लेकिन जांच जारी है।
  3. क्या इस मामले में पंचायत का भूमिका है?
    • उत्तर: हां, पंचायत ने महिला को दंडित किया है और उसे सामाजिक बहिष्कार का फैसला सुनाया गया है।
  4. क्या गांव के युवक के आरोप साबित हो सकते हैं?
    • उत्तर: जांच के बाद ही यह साबित होगा कि आरोप सही हैं या नहीं।
  5. क्या समाज में इस मामले का दृष्टिकोण कैसा है?
    • उत्तर: समाज में इस मामले के पर्याप्त चर्चे हो रहे हैं, और लोग न्याय की मांग कर रहे हैं।

 

ALSO READ:Ranchi News:-अवैध खनन मामला पंकज मिश्रा की बढ़ी मुश्किलें,विजय हांसदा को नामजद अभियुक्त बनाया

 

2 thoughts on “Jharkhand News: महिला को ‘तालिबानी’ सजा, उठक-बैठक से लेकर FIR तक, पूरा मामला खुला”

Leave a Reply