Jharkhand Politics:’दिसंबर तक गिर जाएगी हेमंत सरकार’,सरयू राय का दावा

Jharkhand Politics:’दिसंबर तक गिर जाएगी हेमंत सरकार’,सरयू राय का दावा

पिछले विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री रघुवर दास को हराने वाले निर्दलीय विधायक सरयू राय ने बड़ा दावा किया है कि हेमंत सरकार दिसंबर तक गिर जाएगी। सरकार को उनके अनुसार विधिसम्मत काम नहीं कर रही है।

सरयू राय का बड़ा दावा

 

सरयू राय ने झारखंड सरकार में बढ़ते भ्रष्टाचार को भी गंभीरता से लेकर चर्चा की। उनके अनुसार, सरकार भ्रष्टाचार के मामले में सख्त कार्रवाई करने में असफल है।सरयू राय ने ईडी की कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए कहा कि क्या ईडी पक्षपातपूर्ण तरीके से काम करती है? उन्होंने इस पर सवाल उठाया कि क्या ऐसा हो सकता है कि ईडी की कार्रवाई में गड़बड़ी हो, और उसे सार्वजनिक करना चाहिए।

सरयू राय ने सरकार को चीजें छिपाने का आरोप लगाते हुए कहा कि दवा घोटाले और अन्य मामलों में सबूतों को सार्वजनिक करने के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं हुई है।सरयू राय ने झारखंड के भविष्य को लेकर चुनौतियों की बात की और सभी को राज्य के सहयोगी बनने की अपील की।उनका कहना है कि मुख्यमंत्री को गड़बड़ियों को दुरुस्त करने के लिए क्रियाशीलता दिखानी चाहिए, परंतु इसमें देरी हो रही है।

सरयू राय का आरोप है कि सरकार चीजें छुपाना चाहती है और उन्होंने दवा घोटाले पर सबूतों को सार्वजनिक किया है।उनका कहना है कि भ्रष्टाचार के खिलाफ सख्ती से आवाज़ उठाना चाहिए और दोषियों को सजा देने का समय बराबर चलाना चाहिए।उनका आग्रह है कि सभी को राजनीतिक जिम्मेदारी महसूस करनी चाहिए ताकि राज्य का भविष्य सुधरे।सरयू राय का मानना ​​है कि सरकार चाहती है कि वह अपनी गलतियों को छुपा सके, लेकिन ऐसा होना नहीं चाहिए।

ALSO READ:-Hemant Soren की सरकार ने ₹16,000 करोड़ के नए आवास योजना को मंजूरी दी

1932 के खतियान का समर्थन

उन्होंने स्पष्ट किया कि वह 1932 के खतियान के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन राज्य में हो रही गतिविधियों को समझना महत्वपूर्ण है।उन्होंने कहा की खतियान मामले में उचित करवाई और सरकार के तरफ से उचित दिशा निर्देश देना था,जो जनता की समझने में मदद कर सकती थी इसके पीछे जनता की मंशा क्या है इससे जनता की किस प्रकार से मदद हो सकती है यह भी क्लियर करना चाहिए था , उसपर सरकार पूरी तरह से विफल है।

समाप्ति:

सरयू राय के इस बड़े दावे ने झारखंड राजनीति में बड़ी हलचल मचा दी है, और उनके आरोपों ने सरकार को कड़ी चुनौतियों का सामना करना होगा।इन दावों की राजनितिक गलियों में काफी गूंझ सुनी जा रही है,कहने का आशय यह है की सरयू राय बहुत ही मंझे हुई राजनितिक परिदृश्य से आते है जिनकी हर वक्तव्य की पीछे कुछ कारन होता है ,अब देखना है की उनकी इन बातो को हेमंत सरकार कितनी गंभीरता से लेती है।

FAQ

  1. क्या सरकार वाकई में दिसंबर तक गिरेगी?
    • इस सवाल का जवाब विश्लेषण और तथ्यों के साथ देना आवश्यक है।
  2. क्या भ्रष्टाचार ने झारखंड सरकार को कड़ी परेशानी में डाला है?
    • इस बड़े सवाल का संज्ञानपूर्ण विश्लेषण करना होगा।
  3. क्या ईडी कार्रवाई में पक्षपात है?
    • ईडी के कार्रवाई के पीछे की यथास्थिति को समझना महत्वपूर्ण है।
  4. क्या सरकार गड़बड़ियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई कर रही है?
    • सरकार की क्रियावली पर विशेषज्ञ राय देना होगा।
  5. क्या राज्य को अपना राज्य मानना जरुरी है?
    • इस पर चर्चा करके राज्य की जनता को जागरूक करना होगा।

Leave a Reply