Jharkhand Weather Update: रावण दहन में हामून चक्रवाती तूफान की आशंका

Jharkhand Weather Update: रावण दहन में हामून चक्रवाती तूफान की आशंका

झारखंड में मानसून की वापसी के बाद एक चक्रवाती तूफान, ‘हामून,’ का असर दिख सकता है। मौसम विभाग के अनुसार, इस तूफान ने गंभीर रूप में बदल लिया है और पश्चिम मध्य बंगाल की खाड़ी में गहरा निम्न दबाव बनने के कारण झारखंड के कुछ इलाकों में बारिश की संभावना है।

तूफान का परिचय और पूर्वानुमान

मौसम विभाग के अनुसार, ‘हामून’ चक्रवाती तूफान का नामकरण ईरान ने दिया है।  मौसम विभाग के अनुसार सोमवार को बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना गहरा दबाव का क्षेत्र पिछले छह घंटों के दौरान 14 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उत्तर की ओर बढ़ा और चक्रवाती तूफान में तब्दील हो गया।

अगले 12 घंटों के दौरान उत्तर-पश्चिमी बंगाल की खाड़ी के ऊपर इसके एक तीव्र चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की संभावना है।झारखंड के कई इलाकों में काले-काले बादलों का सामना किया जा रहा है और रांची में भी बादल छाए हुए हैं। हालांकि, मौसम विभाग ने बताया है कि तूफान का भारतीय तट पर बड़ा प्रभाव नहीं पड़ेगा।

राज्‍य के पूर्वी और निकटवर्ती मध्‍य भागों में 24 अक्‍टूबर को हल्‍की से मध्‍यम दर्जे की बारिश होने की संभावना है। इसका असर साहिबगंज, गोड्डा, पाकुड़, दुमका, देवघर, जामताड़ा, गिरिडीह, धनबाद, बोकारो, रामगढ़, रांची, खूंटी, सरायकेला-खरसावां, पूर्वी सिंहभूम, पश्चिमी सिंहभूम जिले में देखने को मिलेगा।

ALSO READ:-रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को पड़ा दिल का दौरा,फर्श पर गिरे मिले..!

ओडिशा में तैयारियां और सुरक्षा कदम

ओडिशा सरकार ने भी अपनी तैयारियों को मजबूत किया है और आपात स्थिति के लिए जिलाधिकारियों को तत्पर रहने का निर्देश दिया है। भारी बारिश की संभावना के मामले में, प्रशासन से निचले इलाकों से लोगों को निकालने का भी आदेश जारी किया गया है।

मौसम वैज्ञानिकों का कहना

मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार, तूफान का ओडिशा पर सीधा प्रभाव नहीं पड़ेगा, लेकिन तेज गति के चक्रवाती हवाओं के कारण कुछ दुर्गा पूजा पंडालों को नुकसान हो सकता है।चक्रवात का असर झारखंड के अलग-अलग हिस्सों में देखने को मिल रहा है

निष्कर्ष

इस मौसमी अपडेट के अनुसार, झारखंड और ओडिशा में हो सकती है बारिश और सुरक्षा कदमों की आवश्यकता है। लोगों से यह सुझाव दिया जाता है कि वे मौसम सूचनाओं को ध्यान से सुनें और सुरक्षित रहें। वहीं चक्रवाती हवाओं की वजह से पिछले 24 घंटों में ओडिशा में लगभग 15 मिमी बारिश हुई. मंगलवार को तटीय

Leave a Reply