Jharkhand News:दुमका में मोटरसाइकिल से भैंस को टक्कर लग जाने के बाद किशोर की हत्या

Jharkhand News:दुमका में मोटरसाइकिल से भैंस को टक्कर लग जाने के बाद किशोर की हत्या

झारखंड के दुमका जिले में 16 वर्षीय बालक की मोटरसाइकिल से भैंस को टक्कर लग जाने के बाद उत्पन्न विवाद में लोगों के एक समूह ने कथित तौर पर पीट पीटकर मार डालने की सूचना मिली है, पुलिस द्वारा प्राप्त जानकारी से पता चला है

घटना का विवरण:

झारखंड के दुमका जिले के संथाली टोला के कुरमाहाट क्षेत्र में हुई एक दुखद घटना में, एक 16 वर्षीय किशोर की मोटरसाइकिल भैंस से टक्कर के बाद उसकी पीटकर हत्या कर दी गई है. पुलिस ने सोमवार को इस घटना की जानकारी दी.रविवार शाम को, लड़का फुटबॉल मैच देखने के बाद मोटरसाइकिल पर दोस्तों के साथ घर लौट रहा था,

ALSO READ:-Jharkhand News:देवघर के अजय बराज में हादसा, 2 बच्चों सहित 5 लोगों की मौत

तभी हंसडीहा थाना क्षेत्र के ठाठी गांव में उसकी मोटरसाइकिल एक भैंस से टकरा गई. पुलिस ने बताया कि जल्द ही मौके पर और भैंसों के साथ पहुंचे लोगों के साथ किशोर की बहस शुरू हो गई. अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी (एसडीपीओ) अमोद नारायण सिंह ने बताया कि पीड़ित किशोर, भैंस के मालिक को हर्जाना देने को भी तैयार हो गया था लेकिन तभी चार लोगों ने उसपर हमला कर दिया.

इसके पश्चात, एक समूह लोगों ने किशोर को पीटकर हत्या कर दी.पुलिस ने बताया कि किशोर को तुरंत सरियाहाट सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया. प्राथमिकी दर्ज की गई है और प्रकरण की जांच शुरू की जा रही है.

परिजनों की मांग:

घटना के पश्चात, वहीं, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है. परिजनों ने पुलिस से अपराधियों की पकड़ने की मांग की है और इलाके में सनसनी फ़ैल गई है. व्यापक जांच के बाद, अपराधियों को जल्द से जल्द पकड़ा जाएगा.यह घटना इलाके में आत्म-न्याय की मांग को बढ़ा देने के साथ-साथ एक सामाजिक संज्ञान भी है, और पुलिस इस मामले में सख्ती से कार्रवाई करने का आदान-प्रदान कर रही है.

निष्कर्ष

इस घटना के पश्चात पता चलता है कि लोगों के बीच सहनशक्ति की भारी कमी आ गई है लोगों द्वारा बताया जा रहा है कि भैंस के टक्कर लगने के बाद किशोर मुआवजा देने के लिए तैयार था फिर भी पशु मालिकों द्वारा विवाद कर पीटने से किशोर की मृत्यु हो गई क्या मुआवजा देने से किशोर वापस आ जाएगा इसे प्रशासन की भी भारी नाकामी मानी जाएगी की अपराधिक प्रवृत्ति वाले लोगों की कानून और प्रशासन का भय समाप्त हो चुका है

Leave a Reply