Arrest:-मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पर गिरफ्तारी की तलवार, झामुमो का प्लान बी गठबंधन विधायकों के साथ बैठक

Arrest:-मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पर गिरफ्तारी की तलवार, झामुमो का प्लान बी गठबंधन विधायकों के साथ बैठक

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को लेकर चल रहे घटनाक्रम में गिरफ्तारी की तलवार लटकती नजर आ रही है। प्रवर्तन निदेशालय (ED) को सोमवार देर रात मुख्यमंत्री कार्यालय से एक आधिकारिक पत्र मिला, जिसमें उन्हें 31 जनवरी को हेमंत सोरेन की उपस्थिति की जानकारी दी गई। अटकलें लगाई जा रही हैं कि उन्हें गिरफ्तारी का सामना करना पड़ सकता है।

1. गायब होना और ईडी का पीछा
झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन सोमवार को ‘लापता’ बताए गए। निवारण निदेशालय के नोटिस के बाद भी ‘अनुपस्थित’ रहने के बाद निदेशालय द्वारा जारी नोटिस के बाद ईडी की टीम ने उन्हें रांची में ढूंढ निकाला।

2. गठबंधन विधायकों के साथ बैठक
रिपोर्टों से पता चलता है कि सत्तारूढ़ गठबंधन के विधायकों के साथ सीएम आवास पर एक बैठक हुई। अचानक गायब होने से चिंताएं बढ़ गईं, जिससे ईडी को दिल्ली तक तलाशी अभियान शुरू करना पड़ा, लेकिन उसका पता लगाने में कोई सफलता नहीं मिली।

3.हेमंत सोरेन पर आरोप
अहम सवाल उठता है- ईडी आखिर क्यों कर रही है हेमंत सोरेन पर कार्रवाई? जहां झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) और हेमंत सोरेन इसे राजनीति से प्रेरित बता रहे हैं, वहीं बीजेपी इसे भ्रष्टाचार के खिलाफ कदम बता रही है. ईडी वर्तमान में धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) धारा 50 के तहत मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़े भूमि और खनन घोटालों से संबंधित आरोपों की जांच कर रही है।

यह भी पढ़े:-Godda News:-गोड्डा में चौंकाने वाली घटना स्कूल शिक्षक ने 2 सहकर्मियों को गोली मारी मौत !

4. जमीन और खनन घोटालों पर जांच
ईडी राज्य की राजधानी में अवैध खनन और भूमि घोटाले से जुड़े दो प्रमुख मामलों की जांच कर रही है। भूमि घोटाला फर्जी पहचान के तहत सेना के कब्जे वाली जमीन की खरीद और बिक्री के इर्द-गिर्द घूमता है। इस संबंध में रांची नगर निगम ने प्राथमिकी दर्ज करायी थी.

भूमि घोटाले के सिलसिले में एक आईएएस अधिकारी और दो व्यापारियों समेत 14 अन्य लोगों को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है। 2011 बैच के आईएएस अधिकारी रंजन फिलहाल ईडी की हिरासत में हैं। ईडी ने छापेमारी के दौरान 236 करोड़ की संपत्ति जब्त करते हुए अहम दस्तावेज जब्त किए हैं.

5.हेमंत सोरेन के आवास पर ED की कार्रवाई
ईडी ने अपनी कोशिशें तेज करते हुए सोमवार को हेमंत सोरेन के दिल्ली स्थित आवास पर छापेमारी की. हालांकि सीएम नहीं मिले, लेकिन टीम ने कथित तौर पर लगभग 36 लाख नकद जब्त किए और उनकी दो लक्जरी कारों को जब्त कर लिया।

सवाल उठता है-हेमंत सोरेन का मामला एक अहम कानूनी मामला क्यों बन गया है? ईडी ने कुल आठ समन जारी किए हैं, लेकिन सीएम ने कोई जवाब नहीं दिया। नवीनतम समन के बाद, ईडी संभावित रूप से उनकी गिरफ्तारी की दिशा में आगे बढ़ सकता है।

6. झामुमो का प्लान बी
चूंकि हेमंत सोरेन को गिरफ्तारी की संभावना का सामना करना पड़ रहा है, झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम) ने एक प्लान बी तैयार किया है। कार्यकर्ता कथित तौर पर ईडी की कार्रवाई के जवाब में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन के लिए तैयार हो रहे हैं। रिपोर्ट्स की मानें तो ईडी की जांच के खिलाफ रांची में पहले से ही प्रदर्शन चल रहे हैं।

7. आगे क्या है?
ईडी की हालिया कार्रवाई और हेमंत सोरेन के दिन भर गायब रहने को देखते हुए सीएम कार्यालय से ईडी के क्षेत्रीय कार्यालय को एक आधिकारिक पत्र भेजा गया था, जिसमें 31 जनवरी को उनकी उपस्थिति बताई गई थी। सूत्र बताते हैं कि ईडी उन्हें गिरफ्तार करने पर विचार कर सकता है। एहतियात के तौर पर उनके आवास के अंदर और बाहर काफी संख्या में सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं।

8. झामुमो की तैयारी
हेमंत सोरेन की संभावित गिरफ्तारी को देखते हुए झामुमो कोई कसर नहीं छोड़ना चाहता है. बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन चल रहा है और अगर उन्हें गिरफ्तार किया जाता है तो उनकी पत्नी को विधायक दल का नेता नियुक्त करने पर चर्चा चल रही है।

निष्कर्ष:

हेमंत सोरेन की संभावित गिरफ्तारी के इर्द-गिर्द सामने आ रही गाथा झारखंड के राजनीतिक परिदृश्य में एक नया अध्याय जोड़ती है। जैसे-जैसे ईडी की जांच आगे बढ़ रही है, झामुमो खुद को राजनीतिक तूफान के लिए तैयार कर रहा है, और आने वाली चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार है।

1 thought on “Arrest:-मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पर गिरफ्तारी की तलवार, झामुमो का प्लान बी गठबंधन विधायकों के साथ बैठक”

Leave a Reply