‘KGF से पहले YASH कौन था?’- ALLU ARVIND

‘KGF से पहले YASH कौन था?’- ALLU ARVIND

प्रसिद्ध फिल्म निर्माता अल्लू अरविंद, जो जाने-माने अभिनेता अल्लू अर्जुन के पिता हैं, ने कोटाबोम्माली पीएस टीज़र प्रीमियर के दौरान एक टिप्पणी करके हंगामा खड़ा कर दिया। फिल्म के बजट पर अभिनेताओं की फीस के प्रभाव के बारे में अरविंद की टिप्पणी, जिसमें केजीएफ फ्रेंचाइजी के स्टार, अभिनेता यश का एक विशेष संदर्भ शामिल था, ने सोशल मीडिया पर उन्माद पैदा कर दिया।

'KGF से पहले YASH कौन था?'- ALLU ARVIND

 

फ़िल्म बजट और अभिनेता शुल्क

कार्यक्रम के दौरान अरविंद ने सफल भूमिकाओं के बाद अभिनेताओं को अधिक भुगतान मिलने की समस्या पर बात की। उन्होंने अपनी प्रोडक्शन कंपनी, गीता आर्ट्स के बारे में विवरण दिया, जो वित्तीय सीमाओं के कारण छोटी फिल्मों पर ध्यान केंद्रित करती है। अरविंद ने इस विचार का खंडन किया कि मुख्य अभिनेताओं की फीस अकेले ही किसी फिल्म के बजट में बड़ी वृद्धि का कारण बनती है, उन्होंने दावा किया कि मुख्य अभिनेता का मुआवजा खर्च का सिर्फ 20 से 25 प्रतिशत है।

YASH और KGF अरविंद के मॉडल की उपलब्धि

अरविंद ने उदाहरण के तौर पर यश का इस्तेमाल किया। यश को पूरे भारत में केजीएफ फ्रेंचाइजी की सफलता के लिए सबसे ज्यादा पहचाना जाता है। उन्होंने केजीएफ के प्रीमियर से पहले दर्शकों से यश के जीवन के बारे में सोचने के लिए कहा और उनकी लोकप्रियता के लिए यश की फिल्मों की ‘समृद्धि’ को श्रेय दिया। अरविंद ने जोर देकर कहा कि फिल्म की लोकप्रियता काफी हद तक अच्छे उत्पादन मूल्यों और कुशल शिल्प कौशल के कारण थी।

अरविंद की टिप्पणी पर सोशल मीडिया पर प्रतिक्रियाएं

हालाँकि, कई सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं ने यश के खिलाफ अरविंद की टिप्पणी पर नाराजगी जताई। कुछ लोगों ने अरविंद के दृष्टिकोण पर सवाल उठाया और दावा किया कि केजीएफ की सफलता का एकमात्र कारण यश था। कुछ लोगों ने भाई-भतीजावाद का मुद्दा उठाया, और अरविंद को उन लोगों की आलोचना करने से पहले अपने प्रयासों में और अधिक प्रयास करने की सलाह दी, जो यश और यहां तक कि अल्लू अर्जुन जैसे सेलिब्रिटी बन गए। अपनी उपलब्धि में यश की भूमिका की प्रासंगिकता इंटरनेट पर काफी चर्चा का विषय रही।

ALSO READ:-Leo Box Office Collection Day 12: Vijay’s Film Shines Bright

प्रशंसकों के उत्तर

नाराज समर्थकों ने कई स्थानों पर अरविंद की स्थिति से नाखुशी व्यक्त की। ऐसी टिप्पणियाँ की गई हैं जिनमें अल्लू अर्जुन की तुलना यश से की गई है और चर्चा की गई है कि कैसे वह एक “छोटे हीरो” से अपनी वर्तमान स्थिति तक पहुंचे। बहस में यह चर्चा भी शामिल थी कि यश कितनी जल्दी प्रसिद्ध हो गए, जिससे कुछ लोग हैरान रह गए और कुछ को इस पर विश्वास करना मुश्किल हो गया।

सारांश

अंत में, अल्लू अरविंद की टिप्पणियों ने सोशल मीडिया पर एक विवादास्पद चर्चा उत्पन्न कर दी, जिसमें अनुयायियों ने अपने आदर्शों का जोरदार समर्थन किया। घटना के अलावा, बातचीत में कलाकारों के बीच संबंध, उनका पारिश्रमिक और फिल्म की समग्र सफलता जैसे नाजुक विषयों पर भी चर्चा हुई। यद्यपि दृष्टिकोण अलग-अलग हो सकते हैं, एक बात निश्चित है: दर्शक अभी भी इसकी आकर्षक गतिशीलता के कारण मनोरंजन क्षेत्र से रोमांचित हैं।

पूछे जाने वाले प्रश्न

प्रश्न: क्या अल्लू अरविंद ने अपनी टिप्पणी में विशेष रूप से यश को निशाना बनाया?

उत्तर: हां, अरविंद ने कार्यक्रम के दौरान एक उदाहरण के रूप में यश का उल्लेख किया।

प्रश्न: सोशल मीडिया ने अरविंद की टिप्पणियों पर कैसी प्रतिक्रिया दी?

उत्तर: सोशल मीडिया पर प्रतिक्रियाओं की झड़ी लग गई, प्रशंसकों ने समर्थन और आलोचना दोनों व्यक्त की।

प्रश्न: अभिनेताओं की फीस के संबंध में अरविंद के तर्क का मुख्य बिंदु क्या था?

उत्तर: अरविंद ने इस बात पर जोर दिया कि अभिनेताओं की फीस उच्च फिल्म बजट का एकमात्र कारण नहीं है।

प्रश्न: क्या यश और अल्लू अर्जुन के बीच कोई तुलना की गई?

उत्तर: हां, उद्योग में अल्लू अर्जुन की यात्रा के उल्लेख के साथ तुलना की गई थी।

प्रश्न: टीज़र लॉन्च इवेंट में विवाद किस वजह से हुआ?

उत्तर: अभिनेताओं की फीस पर अरविंद की टिप्पणियों, विशेष रूप से यश से जुड़े उनके उदाहरण ने विवाद को जन्म दिया।

Leave a Reply